! मेरी अभिव्यक्ति !

तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

700 Posts

2169 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12172 postid : 1336073

कानून पर कामुकता हावी

Posted On: 20 Jun, 2017 Celebrity Writer में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Navodayatimes

१६ दिसंबर २०१२ ,दामिनी गैंगरेप कांड ने हिला दिया था सियासत और समाज को ,चारो तरफ चीत्कार मची थी एक युवती के साथ हुई दरिंदगी को लेकर ,आंदोलन हुए ,सरकार पलटी ,दुष्कर्म सम्बन्धी कानून में बदलाव हुए लगा अब इस देश में नारी जीवन सुरक्षित होने जा रहा है ,जिस कानून में पहले सामूहिक बलात्संग की सजा मात्र १० वर्ष या आजीवन कारावास थी वही कानून अब अपराधियों को २० वर्ष या उनके प्राकृत जीवनकाल के लिए कारावास देने जा रहा था .मगर ये केवल सोच ही थी .  ये साबित करने के लिए किसी बड़े सबूत की आवश्यकता शायद नहीं कही जाएगी कि देश में नारी जीवन एक आपदा से कम नहीं है और इसके सम्बन्ध में चाहे कोई सरकार आये या चाहे कितना ही कठोर कानून ,नारी जीवन को सुरक्षित नहीं किया जा सकता .

अभी तीन दिन पहले ही महामहिम राष्ट्रपति महोदय ने २ दया याचिकाएं ख़ारिज कर दी और दोनों ही दया याचिकाएं रेप के आरोपियों द्वारा की गयी थी उनके द्वारा जो २०-२२ साल के लड़के होने के बावजूद एक ४ साल की बच्ची तक पर दया नहीं कर सकते ,उन पर दया की भी नहीं जानी चाहिए ,और यही सन्देश दिया हमारे महामहिम ने ,किन्तु क्या असर हुआ ,उनकी दया याचिका ख़ारिज हो गयी किन्तु उसके ठीक २ दिन बाद एक ७ वर्षीय बालिका से ऑटो चालक द्वारा फिर उसी घटना को अंजाम दे दिया गया .यूपी के ग्रेटर नॉएडा में एक युवती के साथ गैंगरेप किया गया .इन सभी का ब्यौरा दे रही हैं निम्न क्लिपिंग्स-


राष्‍ट्रपति ने 2 मामलों में दया याचिका को किया खारिज, जानें मामला…

वर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी  25 जुलाई को अपना पद छोड़ेंगे। लेकिन  पद छोड़ेंने के  एक माह पहले राष्‍ट्रपति ने 2 मामलों में दया याचिका को खारिज कर दिया।

जानें खारिज की गई याचिकाओं के बारें में

पहला केस 2012 का है, जिसमें चार साल की एक बच्ची का रेप और फिर उसकी हत्या कर दी गई थी। यह केस  इंदौर है। जिसमें बाबू उर्फ केतन (22), जितेंद्र उर्फ जीतू (20) और देवेंद्र उर्फ सनी (22) ने चार साल की बच्ची का अपहरण कर उसका रेप और हत्या करने का आरोप लगा था, जिसमें सभी दोषी पाए गए हैं।

दूसरा केस पुणे का है, जिसमें कैब ड्राइवर पर अपने साथी के साथ मिलकर युवती का रेप और हत्या के मामले में दोषी हैं। जिसमें पुरुषोत्म दसरथ बोरेट और प्रदीप यशवंद कोकडे को विप्रों में काम करने वाली एक 22 वर्षिय युवती की हत्या और रेप के मामले में दोषी पाया गया है। इन मामलों में कोर्ट ने दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है।

दोनों केस राष्ट्रपति को अप्रैल और मई में भेजे गए थे।

*गुरुग्राम के डूंडाहेड़ा में एक सात साल की बच्ची के साथ एक ऑटो चालक ने कथित तौर पर रेप किया। रेप के बाद बच्ची की हालत गंभीर है। पीड़िता को सफदरजंग हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया है।

पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से रेप के आरोपी ऑटो चालक को गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पीड़ित परिवार डूंडाहेड़ा में रहता है। बताया जा रहा है कि रविवार रात एक ऑटो चालक कमल सिंह बच्ची और उसके 10 साल के भाई को फुसलाकर अपने साथ ले गया। भाई को रास्ते में छोड़कर ऑटो चालक बच्ची को सुनसान जगह पर ले गया। यहां उसने बच्ची से रेप किया।

रेप के बाद आरोपी ने दोनों को उनके घर के पास छोड़ गया। बच्ची की खराब हालत देख कर परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। इसके बाद बच्ची को सिविल हॉस्पिटल में एडमिट करवाया गया।

जिसके बाद यहां से उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया। पुलिस ने एरिया में लगे सीसीटीवी की फुटेज खंगाली। इसमें बच्ची के भाई ने आरोपी को पहचान लिया।

जिसके बाद चालक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। बच्ची की हालत गंभीर है।

  • * यूपी के ग्रेटर नोएडा में एक महिला के साथ कार में गैंगरेप की वारदात सामने आई है। खबर है कि महिला को आरोपियों ने हरियाणा के सोहना से किडनैप किया। इसके बाद गैगरेप की वारदात को अंजाम देकर ग्रेटर नोएडा के कासना इलाके में फेंक दिया।  ग्रेटर नोएडा पुलिस ने इस पूरे मामले पर केस दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
    जानकारी के मुताबिक, हरियाणा के सोहना की रहने वाली 35 साल की महिला को तीन लोगों ने स्विफ्ट कार से सोमवार की शाम 8 बजे अगवा कर रातभर सड़कों पर घुमाते रहे और गैंगरेप करते रहे। इसके बाद पीड़िता को ग्रेटर नोएडा के कासना इलाके में लाकर फेंक दिया।
    मंगलवार की सुबह जब लोगों की नजर महिला पर पड़ी, तो पुलिस को फोन करके इसकी जानकारी दी और मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ महिला के बयान पर जीरो एफआईआर दर्ज कर लिया है। पुलिस को पूछताछ में पता चला कि पीड़िता भरतपुर राजस्थान की रहने वाली है, जो 10 दिन पहले सोहना आई थी।
    पुलिस के मुताबिक, पीड़िता की मेडिकल जांच कराई जा रही है। इसके बाद ही पीड़िता को सोहना ले जाया जाएगा, क्योंकि वारदात हरियाणा के सोहना में हुई है, इसलिए स्थानीय पुलिस से संपर्क करके उसे जांच सौंपी जाएगी। पुलिस ने बताया कि इस वारजाद के बाद से आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।
  • ये घटनाएं स्पष्ट तौर पर यह सन्देश दे रही हैं कि अपराधी अब बेख़ौफ़ हैं उनपर भारतीय कानून का कोई असर अब नहीं है .उनकी साफ तौर पर यह चेतावनी हम सबको दिखाई दे रही है जो कानून के ”सेर पर खुद को सवा सेर ” मान भी रही है और साबित भी कर रही है .ये बात जब सबको दिखाई दे रही है तो कानून के नुमाइंदो को क्यों नज़र नहीं आ रही हैं .दुष्कर्म सम्बन्धी मामलों को सुनने के लिए और उनके त्वरित निबटारो द्वारा इस समस्या पर कुछ लगाम कसने की आशा की जा सकती है अगर सरकार इस ओर ध्यान दे .

  • शालिनी कौशिक
  • [कौशल ]



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran