! मेरी अभिव्यक्ति !

तू अगर चाहे झुकेगा आसमां भी सामने, दुनिया तेरे आगे झुककर सलाम करेगी . जो आज न पहचान सके तेरी काबिलियत कल उनकी पीढियां तक इस्तेकबाल करेंगी .

747 Posts

2135 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 12172 postid : 706408

कॉंग्रेस में ही है दम

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आखिर कॉंग्रेस ने एक बार फिर दिखा दिया कि देश हित में वह किसी भी हद पर जाकर अपने दुश्मनों को भी साथ लेकर चल सकती है और उन्हें अपनी बात मानने को मजबूर कर सकती है .तेलंगाना पर अपनी धुर विरोधी भाजपा को कॉंग्रेस ने अपने साथ इस खूबी से जोड़ लिया कि वह कॉंग्रेस को कमजोर ,जनहित विरोधी सरकार कहते कहते न न करते हुए उससे अलग न हो सकी .यह खूबी कॉंग्रेस में ही है कि वह जो ठान ले उसे पूरा करके ही दम लेती है ऐसे में कॉंग्रेस से ही ये आशा की जा सकती है कि वह उत्तर प्रदेशके नागरिकों को भी इतने बड़े राज्य से उत्पन्न कठिनाइयों से छुटकारा दिलाएगी और मायावती जी द्वारा की गयी पहल के अनुसार उत्तर प्रदेश के चार टुकड़े कराकर यहाँ के नागरिकों को उनकी मेहनत के अनुसार सही फल दिलाएगी क्योंकि सभी दलों को सही राह दिखने की जो क्षमता कॉंग्रेस में है वह किसी में नहीं और ये कॉंग्रेस अध्यक्षा द्वारा देश हित के मुद्दों पर सभी दलों से और विपक्ष की नेता से बिना किसी अहम् के सहयोग की अपील किये जाने जैसे कृत्य स्वयंमेव ही साबित कर देते हैं .किसी शायर ने क्या खूब कहा है -
”कोई दुश्मन भी मिले तो करो बढ़कर सलाम,
पहले खुद झुकता है औरों को झुकाने वाला .”
और यही आज कॉंग्रेस की सफलता का एक महत्वपूर्ण रहस्य है और सच्चाई भी .कॉंग्रेस को अपनी एक और सफलता की और समस्त आंध्र प्रदेश वासियों को तेलंगाना के रूप में एक नया राज्य मिलने की बहुत बहुत शुभकामनायें
शालिनी कौशिक
[कौशल ]

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

surendra shukla bhramar5 के द्वारा
February 21, 2014

shalini ji kaangres yahi raajneeti karte karte boodhi ho chuki hai kuch daanv pench prayog to kiye hi jaa sakte hain lekin naujawan bhi aaj ke ab kam nahi … Bhramar5

    February 21, 2014

    अनुभव को बुढ़ापा नहीं कहा करते सुरेन्द्र जी .यही अनुभव है जो हमें इस ज़िंदगी को जीने के लायक बनता है और यही अनुभव है जो कोंग्रेस से इस देश पर शासन कराता है .

VISHAL PANDIT के द्वारा
February 21, 2014

शालिनी जी लेखक हो लेखक ही रहो आप प्लीज, कांग्रेस कि एजेंट मत बनो. जनता को सब पता कौन सच्चा और कौन झूठा है और जल्द ही लोकसभा चुनाव में क्लियर हो जाएगा.

jlsingh के द्वारा
February 21, 2014

आदरणीया शालिनी जी, सादर अभिवादन! कांग्रेस के विरोधी भी इस बात को जानते हैं कि राजनीति तो कांग्रेस को ही होती है और इसने कर के दिखाया है ६० साल का शासन, औद्योगीकरण, गरीबी हटाओ, पढ़ना लिखना सीखो, (शिक्षा का अधिकार), महिला सुरक्षा बिल, सूचना का अधिकार, एफ डी आई, न्यूक्लिअर डील, खाद्य सुरक्षा बिल, लोकपाल बिल ये सभी उदाहरण हैं. केजरीवाल को भ्रमित करना, जे डी यु को एन डी ए से अलग करवाना …ये सभी तत्काल दीखते ही हैं उसके बाद तेलंगाना बिल (आपके अनुसार) …और वो कहते हैं कांग्रेस मुक्त भारत….प्रधान मंत्री के भावी उम्मीदवार …. कपिल सिब्बल का घोषणा पत्र कार्यक्रम में अचूक जवाब और अंत में कविता …क्या क्या गिनाऊँ ? . राजनीति तो कांग्रेस को ही होती है…


topic of the week



latest from jagran